Viral News

अब गजराज भी बनायेंगे डोले शोले .. कॉर्बेट नेशनल पार्क में खुलेगा हाथियों के लिए जिम ..

jim corbet national park
Pic by unsplash

मौजूदा दौर की इस दौड़ती भागती जिंदगी में आखिर फिट कौन नहीं होना चाहता। लोग एक अच्छी सेहत के लिए योग व जिम द्वारा फिट बने रहने के लिए खूब पैसा और पसीना बहाते हैं और अपनी जीवन शैली में तरह-तरह के बदलाव करते हैं। मगर अब जिम केवल आदमियों के‌ फिटनेस का जरिया नहीं रहेगा। बल्कि अब जंगलों में भटकने वाले जानवरों को भी जीम में हाथ आजमाने का मौका‌ मिलेगा और इसकी शुरवात हो रही है कॉर्बेट टाइगर रिज़र्व के कालागढ़ हाथी कैंप से। इसका मतलब है कि जानवरों में भी गजराज सबसे पहले इस सुविधा का फायदा ले सकेंगे।

इसे देखें – उत्तराखंड में पायी जाने वाली पक्षियों की दुर्लभ तस्वीरें

जी हाँ उत्तराखण्ड में कार्वेट टाइगर रिजर्व के कालागढ़ हाथी कैंप में जिम बनाया जा रहा है, ताकि रिजर्व में मौजूद हाथी जिम के जरिए फिट रह सकें। इससे पहले ऐसे ही जिम का निर्माण राजाजी टाइगर रिजर्व में किया गया था।  हाथियों के लिए बनाए जा रहे इस जिम्नेजियम में हाथी बाल, टायर रिंग, मिट्टी के ढेर जैसी सुविधाएं होंगी। जहाँ गजराज मौज-मस्ती करते हुए नजर आयेंगे।




कालागढ़ हाथी कैंप में हाथियों के स्वास्थ्य, खाने पीने और उपचार से लेकर कई जरुरी सुविधाएं हैं। इस कैंप में वर्ष 2017 में कर्नाटक से नौ हाथियों को लाया गया था। जिनमें मौजूद कचंभा नाम की हथिनी ने 2018 को एक नर हाथी को जन्म दिया था।

हालांकि इस तरह के कैंप में हाथियों को जंगल जैसा खुला स्वतंत्र वातावरण तो नहीं होता मगर यहाँ उनको प्राकृतिक माहौल देकर उनकी देखभाल की जाती है। इन  सुविधाओं को मुहैया कराने का प्रमुख उद्देश्य है कि हाथी स्वास्थ्य रहें व उनको मेंटल स्ट्रेस ना हो।

( सौजन्य से खबर अमर उजाला डेस्क )

About the author

Deepak Bisht

नमस्कार दोस्तों | मेरा नाम दीपक बिष्ट है। मैं पेशे से एक journalist, script writer, published author और इस वेबसाइट का owner एवं founder हूँ। मेरी किताब "दो पल के हमसफ़र " amazon पर उपलब्ध है। आप उसे पढ़ सकते हैं। WeGarhwali के इस वेबसाइट के माध्यम से हमारी कोशिस है कि हम आपको उत्तराखंड से जुडी हर छोटी बड़ी जानकारी से रूबरू कराएं। हमारी इस कोशिस में आप भी भागीदार बनिए और हमारी पोस्टों को अधिक से अधिक लोगों के साथ शेयर कीजिये। इसके आलावा यदि आप भी उत्तराखंड से जुडी कोई जानकारी युक्त लेख लिखकर हमारे माध्यम से साझा करना चाहते हैं तो आप हमारी ईमेल आईडी wegarhwal@gmail.com पर भेज सकते हैं। हमें बेहद खुशी होगी। मेरे बारे में ज्यादा जानने के लिए आप मेरे सोशल मीडिया अकाउंट से जुड़ सकते हैं। :) बोली से गढ़वाली मगर दिल से पहाड़ी। जय भारत, जय उत्तराखंड।

Add Comment

Click here to post a comment