Uttarakhand Uttarakhand Study Material

उत्तराखंड में स्थित प्रमुख गुफाएं एवं शिलाएं | Major Caves and Rocks in Uttarakhand

उत्तराखंड प्रमुख गुफाएं शिलाएं

उत्तराखंड में प्राकृतिक रूप से मौजूद बहुत सी ऐसे गुफाएं और शिलाएं स्तिथ हैं जिनका पौराणिक कथाओं से महत्त्व जुड़ा हुआ है। कहते हैं की इन गुफाओं और शिला खण्डों की अपनी विशिष्ट कहानी हैं जिनका इतिहास हमारे धार्मिक  ग्रंथों से भी जुड़ा हुआ है। नीचे उत्तराखंड में स्थित प्रमुख गुफाएं एवं शिलाएं (Major Caves and Rocks in Uttarakhand) दिए गए हैं इन्हें ध्यान से पढ़ें ये आगामी राज्य स्तरीय परीक्षाओं की दृस्टि से  भी महत्त्व पूर्ण हैं।

 


उत्तराखंड में स्थित प्रमुख गुफाएं | Major Caves in Uttarakhand

 

व्यास पोथी, गणेश व मुचकुन्द गुफाएं – ये गुफाएं बदरीनाथ (चमोली) से 4 किमी आगे माणा गांव के निकट है। ऐसा कहा जाता है भागवत कथा को व्यास गुफा में व्यास गुफा में बैठकर व्यास जी ने बोला था और गणेश गुफा में गणेश जी ने लिखा था। मुकचुन्द गुफा माणा से ही थोड़ा आगे है।

राम, स्कन्द एंव गरुड़ गुफाएं- ये गुफाएं बदरीनाथ के आस-पास ही स्थित हैं।

भीम एंव ब्रह्म गुफाएं- केदारनाथ (रुद्रप्रयाग) के पास स्थित हैं।

कोटेश्वर महादेव गुफा – यह गुफा रुद्रप्रयाग जिला मुख्यालय से अलकनंदा के किनारे स्थित है। यहाँ शिव का प्राकृतिक शिवलिंग है।

पाण्डव गुफा – यह गुफा गंगोत्री (उत्तरकाशी) के पास स्थित है।

मातंग गुफा – यह गुफा मालती गांव (उत्तरकाशी) के पास भागीरथी के किनारे स्थित है। इस गुफा का संबंध मातंग ऋषि से है।



विश्वनाथ या वशिष्ठ गुफा – ये दोनों ही गुफा ऋषिकेश से 20 आगे टिहरी जिले में गंगा के तट पर स्थित हैं।

लाखामण्डल गुफा – देहरादून के खाई के पास स्थित लाखामण्डल गुफा को पांडवों से जोड़ा जाता है।

गुच्चूपानी – यह देहरादून से 8 किमी दूर स्थित है।

भैरव गुफा – यह गुफा देवलगढ़ (श्रीनगर गढ़वाल) के पास स्थित है।

शंकर गुफा – यह गुफा देवप्रयाग (टिहरी) में स्थित है।

पाण्डुखोली या त्रयम्बक गुफा – यह गुफा द्वाराहाट (अल्मोड़ा) में स्थित है।

पाताल भुवनेश्वर गुफा- गंगोलीहाट (पिथौरागढ) के पास स्थित है।

सुमेरु एंव स्वधम गुफाएं – यह भी गंगलीहाट (पिथौरागढ) के पास स्थित है।

इसे भी पढ़ें – उत्तराखण्ड के प्रमुख ग्लेशियर व हिमनद




 

उत्तराखंड में स्थित प्रमुख  शिलाएं | Major Rocks In Uttarakhand

 

नरसिंह शिला – बद्रीनाथ
नारद शिला – बद्रीनाथ
गरुड़ शिला – बद्रीनाथ
चरण पादुका – बद्रीनाथ
बारह शिला – बद्रीनाथ
चन्द्र शिला – तुंगनाथ
काल शिला – कालीमठ
भृगु शिला – केदारनाथ
भीम शिला – माणा ( चमोली)
भागरथी शिला – गंगोत्री (उत्तरकाशी)

इसे भी पढ़ें – उत्तराखण्ड में मौजूद प्रमुख दर्रे 


उत्तराखंड में स्थित प्रमुख गुफाएं एवं शिलाएं – (Major Caves and Rocks in Uttarakhand) यह पोस्ट अगर आप को अच्छी लगी हो तो इसे शेयर करें साथ ही हमारे इंस्टाग्रामफेसबुक पेज व  यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें।

 

 

About the author

Deepak Bisht

नमस्कार दोस्तों | मेरा नाम दीपक बिष्ट है। मैं पेशे से एक journalist, script writer, published author और इस वेबसाइट का owner एवं founder हूँ। मेरी किताब "Kedar " amazon पर उपलब्ध है। आप उसे पढ़ सकते हैं। WeGarhwali के इस वेबसाइट के माध्यम से हमारी कोशिश है कि हम आपको उत्तराखंड से जुडी हर छोटी बड़ी जानकारी से रूबरू कराएं। हमारी इस कोशिश में आप भी भागीदार बनिए और हमारी पोस्टों को अधिक से अधिक लोगों के साथ शेयर कीजिये। इसके अलावा यदि आप भी उत्तराखंड से जुडी कोई जानकारी युक्त लेख लिखकर हमारे माध्यम से साझा करना चाहते हैं तो आप हमारी ईमेल आईडी wegarhwal@gmail.com पर भेज सकते हैं। हमें बेहद खुशी होगी। मेरे बारे में ज्यादा जानने के लिए आप मेरे सोशल मीडिया अकाउंट से जुड़ सकते हैं। :) बोली से गढ़वाली मगर दिल से पहाड़ी। जय भारत, जय उत्तराखंड।

Add Comment

Click here to post a comment