Uttarakhand Uttarakhand Study Material

उत्तराखण्ड के प्रमुख ग्लेशियर व हिमनद

उत्तराखण्ड के प्रमुख ग्लेशियर

उत्तराखण्ड के प्रमुख ग्लेशियर व हिमनद : उत्तराखण्ड का अधिकांशतः भाग पहाड़ी है इसलिए मध्य हिमालय व शिवालिक श्रेणियों के द्वारा घिरने के कारण राज्य में बहुत से ग्लेशियर व हिमनद हैं। इन ग्लेशियर व हिमनदों के कारण यहाँ की नदियाँ और झीलों में सदा जल रहता है। वहीं ये पर्यटन की दृष्टि से भी बहुत महत्वपूर्ण है।

हिमनद या ग्लेशियर – हिमालय के ऊँचाई वाला क्षेत्र जहाँ हिमखंडों के खिसकने, गलने आदि प्रक्रियाएं होती हैं, उन्हें ग्लेशियर या हिमनद या हिमानिया कहते हैं। साधारण शब्दों में हिमालय का वह ऊँचाई वाला बर्फीला क्षेत्र जहाँ से निकलने वाली जल धाराएँ हिमालय नदियों का निर्माण करती हैं। हिमानिया या हिमनद कहलाती हैं।


नीचे उत्तराखण्ड के प्रमुख ग्लेशियर और उनसे संबंधित जिलों के बारे में जानकारी दी है। इन्हें ध्यान से पढ़ें। राष्ट्रीय व राज्य स्तरीय परीक्षाओं में इनसे जुड़े सवाल आते रहते हैं।  इसे भी पढ़ें – उत्तराखंड के प्रमुख पर्वत शिखर 




उत्तराखंड के प्रमुख ग्लेशियर

ग्लेशियरजिला
मिलम ग्लेशियर (16km)पिथौरागढ
काली ग्लेशियरपिथौरागढ़
नामिक ग्लेशियरपिथौरागढ़
हीरामणि ग्लेशियरपिथौरागढ़
पिनौरा ग्लेशियरपिथौरागढ़
रालम ग्लेशियरपिथौरागढ़
पोटिंग ग्लेशियरपिथौरागढ़
सुंदरढुंगी ग्लेशियरबागेश्वर
सुखराम ग्लेशियरबागेश्वर
पिण्डारी ग्लेशियर (30 km लंबा, 400 m चौड़ाबागेश्वर+चमोली
कफनी ग्लेशियरबागेश्वर
मैकतोली ग्लेशियरबागेश्वर
यमुनोत्री ग्लेशियर (10km लंबा)उत्तरकाशी
गंगोत्री ग्लेशियर (30 km लंब‍ और और 2 km चौड़ा)उत्तरकाशी
डोरियानी ग्लेशियरउत्तरकाशी
बन्दरपूंछ ग्लेशियर (12km)उत्तरकाशी
खतलिंग ग्लेशियर (12km)टिहरी+रुद्रप्रयाग
चौराबाड़ी ग्लेशियररुद्रप्रयाग
केदारनाथ ग्लेशियर (14km लंबा 500m चौड़ा)रुद्रप्रयाग
दूनागिरी ग्लेशियरचमोली
हिपराबमक ग्लेशियरचमोली
बद्रीनाथ ग्लेशियर (10 km)चमोली
सतोपंथ व भागीरथी ग्लेशियरचमोली

 



इसे भी पढ़ें – उत्तराखण्ड में मौजूद प्रमुख दर्रे 

इसे भी पढ़ें – उत्तराखण्ड में मौजूद जल विद्युत परियोजनाएँ और बाँध

 


यह पोस्ट अगर आप को अच्छी लगी हो तो इसे शेयर करें साथ ही हमारे इंस्टाग्रामफेसबुक पेज व  यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें।

About the author

Deepak Bisht

नमस्कार दोस्तों | मेरा नाम दीपक बिष्ट है। मैं पेशे से एक journalist, script writer, published author और इस वेबसाइट का owner एवं founder हूँ। मेरी किताब "दो पल के हमसफ़र " amazon पर उपलब्ध है। आप उसे पढ़ सकते हैं। WeGarhwali के इस वेबसाइट के माध्यम से हमारी कोशिस है कि हम आपको उत्तराखंड से जुडी हर छोटी बड़ी जानकारी से रूबरू कराएं। हमारी इस कोशिस में आप भी भागीदार बनिए और हमारी पोस्टों को अधिक से अधिक लोगों के साथ शेयर कीजिये। इसके आलावा यदि आप भी उत्तराखंड से जुडी कोई जानकारी युक्त लेख लिखकर हमारे माध्यम से साझा करना चाहते हैं तो आप हमारी ईमेल आईडी wegarhwal@gmail.com पर भेज सकते हैं। हमें बेहद खुशी होगी। मेरे बारे में ज्यादा जानने के लिए आप मेरे सोशल मीडिया अकाउंट से जुड़ सकते हैं। :) बोली से गढ़वाली मगर दिल से पहाड़ी। जय भारत, जय उत्तराखंड।

Add Comment

Click here to post a comment