Uttarakhand Uttarakhand Study Material

उत्तराखंड के प्रमुख संस्थान | Major institutes of Uttarakhand

उत्तराखंड के प्रमुख संस्थान

उत्तराखंड  में बहुत से राज्य व राष्ट्रीय स्तर के संस्थान हैं जिनपर आधारित सवाल अक्सर प्रतियोगी परिक्षाओं में पूछे  जाते हैं। इस पोस्ट में  उत्तराखंड के प्रमुख संस्थान (Major institutes of Uttarakhand) के बारे में बताया गया है इन्हे ध्यान से पढ़ें।


उत्तराखंड के प्रमुख संस्थान | Major institutes of Uttarakhand

 

• उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग
(Uttarakhand Public Service Commission)

 

गठन – अप्रैल 2001
मुख्यालय – हरिद्वार
सदस्य – अध्यक्ष सहित कुल 4 सदस्य
प्रथम अध्यक्ष – एन.पी.नवानी

उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग को उत्तराखण्ड राज्य निर्माण के बाद (9 नवंबर, 2000) अनुच्छेद 315 (1) के तहत उत्तराखण्ड के राज्यपाल द्वारा गठित किया गया। वर्तमान में इसके अध्यक्ष मेजर जनरल आनंद सिंह रावत (रिटायर्ड) हैं।

इसे भी पढ़ें – गढ़वाल में स्तिथ झीलें 


• आर्यभट्ट परीक्षण विज्ञान शोध संस्थान (ऐरीज)
(Aryabhatt research institute of observation)

 

गठन – 1954 में राजकीय वेधशाला के नाम पर वाराणसी में
स्थानांतरण – 1955, नैनीताल शेर का डांडा पहाड़ी
वर्तमान स्थापित – 1961, मनोरा पहाड़ी, नैनीताल

इस वेधशाला ने 30 मार्च 2016 को एशिया के सबसे बड़े आप्टिकल दूरबीन को देवस्थल, नैनीताल में स्थापित किया गया। इस दूरबीन की सहायता से आकाशीय हलचलों का अध्ययन किया जाता है।




• भारतीय वन अनुसंधान संस्थान
(Indian Forest Research Institute)

 

स्थापना – 1906
स्थापित – देहरादून

1878 में इसकी स्थापना डिट्रीच ब्रैंडिस द्वारा ब्रिटिश इंपीरियल फाॅरेस्ट स्कूल के रुप में इसकी स्थापना की गई थी। जिसका नाम बदलकर वर्ष 1906 में इंपीरियल फाॅरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट कर दिया गया। पहले यह चंद्रबाग, देहरादून (दून स्कूल) में मौजूद था। वर्तमान स्थान पर स्थापित में मुख्य परिसर का उद्घाटन वर्ष 1929 में तत्कालीन वायसराय फ्रीमैन फ्रेडरिक थाॅमस द्वारा किया गया था। इसका डिजाइन CG BlomField द्वारा ग्रीको-रोमन आर्किटेक्चर स्टाइल में बनाया गया।

इसे भी पढ़ें – उत्तराखंड में स्तिथ वन्य जीव विहार 


• भारतीय पशु चिकित्सा एंव अनुसंधान संस्थान
(Indian Veterinary Research Institute)

 

गठन – 1893
स्थापित – मुक्तेश्वर, नैनीताल

सबसे पहले इसे डाॅ. एल्फ्रेड लिंगार्ड द्वारा 1893 में स्थापित किया गया था। उस वक्त इस संस्थान का नाम इम्पीरियल बैक्टीरियोलाॅजिकल लैबोरेटरी के नाम से रखा गया था। 1925 में इसका नाम बदलकर इम्पीरियल इंस्टीट्यूट ऑफ वेटरनरी रिसर्च रखा गया जिसे स्वतंत्रता के बाद पुनः बदलकर वर्तमान नाम रखा गया। 1924 में इसी संस्थान में डाॅ. एडवर्डस द्वारा रिंडरपेस्ट नाम का टीका खोजा गया था।




• भारतीय सर्वेक्षण विभाग
(Survey Of India)

 

सर्वप्रथम गठन – 1767 में बंगाल में
स्थानांतरण – 1942 में
स्थापित – देहरादून

यह देश में प्रत्येक प्रकार के भू-सर्वेक्षण और मानचित्र बनाने वाला एक मात्र अभिकरण है। इसके महासर्वेक्षक एवरेस्ट ने 1852 में विश्व की सबसे ऊंची चोटी का प्रेक्षण कर उसकी ऊंचाई की घोषणा की थी। उन्हीं के नाम पर इस चोटी का नाम एवरेस्ट रखा गया है। भारत का प्रथम डाक टिकट 1952 में इसी विभाग ने जारी किया।

इसे भी पढ़ें – उत्तराखण्ड में मौजूद जल विद्युत परियोजनाएँ और बाँध


• विवेकानन्द पर्वतीय कृषि अनुसंधान संस्थान
(Vivekanda Hill Farm Research Station)

 

गठन – 1924 में डाॅ.बोसी सेन द्वारा
वर्तमान स्थान – अल्मोड़ा

विवेकानन्द पर्वतीय कृषि अनुसंधान संस्थान की स्थापना 4 जुलाई वर्ष 1924 को प्रो० बोशी सेना द्वारा की गई थी। उस वक्त यह संस्थान कलकत्ता के नाम से जाना जाता था। वर्ष 1936 में यह अल्मोड़ा में स्थाई रुप से स्थानांतरित कर दिया गया।





• हाई अल्टीट्यूड प्लांट फिजिओलाॅजी रिसर्च सेंटर
(High Altitude Plant Physiology Research Centre)

 

गठन – जुलाई 1979
स्थापना – श्रीनगर गढ़वाल (पौड़ी)

हाई अल्टीट्यूड प्लांट फिजियोलॉजी रिसर्च सेंटर की स्थापना गढ़वाल विश्विद्यालय के श्रीनगर परिसर में जुलाई 1979 में हुई थी। इस रिसर्च सेंटर के अंतर्गत तुंगनाथ में एक अल्पाइन रिसर्च स्टेशन (3600 मीटर) और श्रीनगर में विश्लेषणात्मक प्रयोगशाला है।

इसे भी पढ़ें – उत्तराखण्ड में मौजूद प्रमुख दर्रे 


• राज्य शैक्षिक अनुसंधान एंव प्रशिक्षण परिषद
(State Council of Educational Research and Teaching)

 

गठन – 17 जनवरी 2006
स्थापना – नरेंद्रनगर (टिहरी गढ़वाल)

राज्य शैक्षिक अनुसंधान एंव प्रशिक्षण परिषद वर्ष 2006 में नरेन्द्र नगर (टिहरी) में गठन किया गया। जून 2013 में इस परिषद के कार्यालय को रातों रात नरेंद्र नगर से देहरादून शिफ्ट किया गया था।


 राज्य के अन्य प्रमुख संस्थान एंव उनके मुख्यालय



संस्थानस्थापित
ड्रग्स कम्पोजिट रिसर्च यूनिट
(Drugs composite research unit)
रानीखेत, अल्मोड़ा
सेंट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टीट्यूट
(Central building research institute)
रुड़की, हरिद्वार
स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग रिसर्च सेंटर
(Structural engineering research centre)
रुड़की, हरिद्वार
औद्योगिक प्रौद्योगिकी अनुसंधान केन्द्र
(Industrial technological research centre)
रुड़की, हरिद्वार
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ पेट्रोलियम
(Indian institute of petroleum)
देहरादून
केन्द्रीय भूमि जल संरक्षण अनुसंधान एवं प्रशिक्षण केन्द्र
(Central ground water conservation research and training centre)
देहरादून
वाडिया इंस्टीट्यूट ऑफ हिमालयन जियोलॉजी
(Wadia institute of himalayan geology)
देहरादून
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ रिमोट सेंसिंग
(Indian institute of remote sensing)
देहरादून
ड्रिलिंग टेक्नोलॉजी इंस्टीट्यूट
(Drilling technology institute)
देहरादून
ऑयल नेचुरल गैस कॉरपोरेशन
(Oil and natural gas corporation)
देहरादून
IRDE
(Instruments research and development establishment)
रायपुर, देहरादून
राष्ट्रीय दृष्टि बाधितार्थ संस्थान
(National institute of visually handicapped)
देहरादून
भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण संस्थान
(Archaeological Survey of india )
देहरादून
भारतीय सैन्य अकादमी
(Indian military academy)
देहरादून
लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी
(Lal bahadur shastri national academy of administration)
मसूरी, देहरादून
उत्तराखंड प्रशासनिक प्रशिक्षण अकादमी
(Uttara khand administrative training academy)
नैनीताल
उत्तराखंड संस्कृति साहित्य एवं कला परिषद
(Uttara khand culture, literature and arts council)
देहरादून
भातखंडे संगीत महाविद्यालय
(Bhatt condemn music college )
अल्मोड़‍ा, पौड़ी, देहरादून
उदय शंकर नृत्य एवं संगीत अकादमी
(Uday shankar dance and music academy)
अल्मोड़ा
राजकीय औद्योगिक महाविद्यालय
(Street industrial college)
भरसार, पौड़ी गढ़वाल
राजकीय विधि कॉलेज
(Government law college)
गोपेश्वर, चमोली
जड़ी बूटी शोध एवं विकास संस्थान
(Herbs research and development foundation)
गोपेश्वर, चमोली
उच्च स्तरीय पौध शोध संस्थान
(Hi terrestrial plant research)
श्रीनगर, पौड़ी गढ़वाल
जीबी पंत हिमालयी पर्यावरण एवं विकास संस्थान
(Gb pant institute of himalayan environment and development)
कटारमल, अल्मोड़ा
वन एवं पंचायत प्रशिक्षण अकादमी
(Forest and panchayat training academy)
हल्द्वानी, नैनीताल
उत्तराखंड सेवानिधि एवं पर्यावरण शिक्षा संस्थान
(It reckoned services fund and environment institute)
अल्मोड़ा
जवाहरलाल नेहरू पर्वतारोहण संस्थान
(Jawaharlal nehru institute of mountaineering)
उत्तरकाशी
हिमालय नक्षत्र वेधशालादेवप्रयाग, टिहरी

 




यह पोस्ट अगर आप को अच्छी लगी हो तो इसे शेयर करें साथ ही हमारे इंस्टाग्रामफेसबुक पेज व  यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें।

About the author

Deepak Bisht

नमस्कार दोस्तों | मेरा नाम दीपक बिष्ट है। मैं पेशे से एक journalist, script writer, published author और इस वेबसाइट का owner एवं founder हूँ। मेरी किताब "दो पल के हमसफ़र " amazon पर उपलब्ध है। आप उसे पढ़ सकते हैं। WeGarhwali के इस वेबसाइट के माध्यम से हमारी कोशिस है कि हम आपको उत्तराखंड से जुडी हर छोटी बड़ी जानकारी से रूबरू कराएं। हमारी इस कोशिस में आप भी भागीदार बनिए और हमारी पोस्टों को अधिक से अधिक लोगों के साथ शेयर कीजिये। इसके आलावा यदि आप भी उत्तराखंड से जुडी कोई जानकारी युक्त लेख लिखकर हमारे माध्यम से साझा करना चाहते हैं तो आप हमारी ईमेल आईडी wegarhwal@gmail.com पर भेज सकते हैं। हमें बेहद खुशी होगी। मेरे बारे में ज्यादा जानने के लिए आप मेरे सोशल मीडिया अकाउंट से जुड़ सकते हैं। :) बोली से गढ़वाली मगर दिल से पहाड़ी। जय भारत, जय उत्तराखंड।

Add Comment

Click here to post a comment