Uttarakhand Viral News

दुखद : नारायणबगड़ में दो मंजिला मकान जमीदोज़, 3 साल की बच्ची की दर्दनाक मौत

नारायण बगड़
प्रतिकात्मक तस्वीर

चमोली जिले के नारायण बगड़ क्षेत्र से दर्दनाक हादसा सामने आया है जहां एक दो मंजिला मकान धराशाई हो गया जिसके मलबे में दबकर एक 3 साल की मासूम बच्ची की दर्दनाक मौत हो गई ,जबकि बच्ची की मां इस हादसे में गंभीर रूप से घायल हुई हैं जिन्हें प्राथमिक उपचार के बाद हायर सेंटर रेफर किया गया है। घटना के बाद गांव में शोक की लहर है।   
पढ़ें – मुख्यमंत्री ने  कार्यकर्ताओं को बांटे पद, जानिए किसे क्या मिला 




इसे भी पढ़ें – दुःखद :- खुशी बदली मातम में, तेज रफ्तार पिकअप ने बारातियों को रौंदा

जानकारी के मुताबिक चिलियापानी गांव में बुधवार सुबह दर्शन सिंह का पुराना दो मंजिला मकान भरभरा कर गिर गया हादसे के बाद दर्शन सिंह की पुत्रवधू वर्षा देवी नाश्ता तैयार कर रही थी और नातनी मिष्ठी खेलते हुए उसी समय अंदर प्रवेश कर रही थी कि अचानक पूरा घर, उनके ऊपर गिर पड़ा। चीख-पुकार के बीच मलबे में दबे दोनों लोगों को लोगों ने निकाला इस दौरान 30 वर्षीय वर्षा देवी गंभीर रूप से घायल हो गई और मासूम 3 साल की मिष्ठी की दर्दनाक मौत हो गई जिसके बाद से इलाके में शोक की लहर है। सूचना पर नायब तहसीलदार सुरेंद्र सिंह देव, राजस्व उपनिरीक्षक राजेश्वरी रावत, पुलिस चौकी प्रभारी विनोद चौरसिया, कांस्टेबल उमेश डोभाल, संतोष मौके पर पहुंचे। बालिका के शव का पंचनामा भरकर गमगीन माहौल में उसकी अंतेष्टि कर दी गई।

 


अगर आपके पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करें साथ ही हमारे इंस्टाग्रामफेसबुक पेज व  यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें।

About the author

Deepak Bisht

नमस्कार दोस्तों | मेरा नाम दीपक बिष्ट है। मैं पेशे से एक journalist, script writer, published author और इस वेबसाइट का owner एवं founder हूँ। मेरी किताब "दो पल के हमसफ़र " amazon पर उपलब्ध है। आप उसे पढ़ सकते हैं। WeGarhwali के इस वेबसाइट के माध्यम से हमारी कोशिस है कि हम आपको उत्तराखंड से जुडी हर छोटी बड़ी जानकारी से रूबरू कराएं। हमारी इस कोशिस में आप भी भागीदार बनिए और हमारी पोस्टों को अधिक से अधिक लोगों के साथ शेयर कीजिये। इसके आलावा यदि आप भी उत्तराखंड से जुडी कोई जानकारी युक्त लेख लिखकर हमारे माध्यम से साझा करना चाहते हैं तो आप हमारी ईमेल आईडी wegarhwal@gmail.com पर भेज सकते हैं। हमें बेहद खुशी होगी। मेरे बारे में ज्यादा जानने के लिए आप मेरे सोशल मीडिया अकाउंट से जुड़ सकते हैं। :) बोली से गढ़वाली मगर दिल से पहाड़ी। जय भारत, जय उत्तराखंड।