Tag - पहाड़ पर लालटेन

Blog Uttarakhand

“आवाज भी एक जगह है” जैसे “पहाड़ पर लालटेन” – अलविदा मंगलेश डबराल

कुछ लोग साहित्य में इतने रच बस जाते हैं जैसे मनो अपने सृजन का रास्ता  लिख रहे हों , खुद तय कर रहे हों कि क्या जरूरी था क्या नहीं और मार्मिकता के किस ओर  ध्यान...