Blog Uttarakhand Uttarakhand Devlopment Updates

उत्तराखंड की अर्थव्यवस्था और राज्य के आर्थिक विकास में अन्य क्षेत्रों का योगदान

उत्तराखंड की अर्थव्यवस्था 

उत्तराखंड एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है, और राज्य की प्राकृतिक सुंदरता, साहसिक खेल और धार्मिक स्थल हर साल बड़ी संख्या में घरेलू और अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों को आकर्षित करते हैं। सेवा और आईटी जैसे अन्य क्षेत्र भी हाल के वर्षों में बढ़ रहे हैं, जो राज्य के समग्र आर्थिक विकास और अर्थव्यवस्था में योगदान दे रहे हैं।

Advertisement

दोस्तों जैसे-जैसे भारत विश्वस्तर पर अपनी पहुंच को पुनः स्थापित कर रहा है। उसके साथ-साथ भारत के अन्य राज्यों का आर्थिक विकास भी बढ़ रहा है। कई राज्यों की अर्थव्यवस्था वर्तमान में कई देशों से बेहतर है ये  समझने के लिए उत्तराखंड की जीडीपी पर नजर डालते हैं। यदि  उत्तराखंड की जीडीपी पर नजर डाली जाए तो सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय के अनुसार, वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए उत्तराखंड का सकल राज्य घरेलू उत्पाद (जीएसडीपी) मौजूदा कीमतों पर 2,61,620 करोड़ रुपये (लगभग 35 अरब अमेरिकी डॉलर) होने का अनुमान लगाया गया था। उत्तराखंड का जीएसडीपी पिछले पांच वर्षों में लगभग 12% की औसत दर से बढ़ रहा है, जो राष्ट्रीय औसत से अधिक है।



राज्य की अर्थव्यवस्था  पर यदि नजर डालें तो राज्य की अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से कृषि, बागवानी, पर्यटन और लघु उद्योगों जैसे क्षेत्रों द्वारा संचालित होती है, जिसमें राज्य के सकल घरेलू उत्पाद में पर्यटन का महत्वपूर्ण योगदान है।

उत्तराखंड के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में विभिन्न क्षेत्रों का योगदान 

कृषि और संबद्ध गतिविधियाँ: उत्तराखंड में कृषि एक महत्वपूर्ण क्षेत्र है, और यह राज्य की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान देता है। वित्तीय वर्ष 2020-21 में उत्तराखंड की जीएसडीपी में कृषि और संबद्ध गतिविधियों की हिस्सेदारी 22.86% थी।

उद्योग: उत्तराखंड में औद्योगिक क्षेत्र छोटे और मध्यम उद्यमों द्वारा संचालित है, जो विनिर्माण, खनन और निर्माण जैसे विभिन्न क्षेत्रों में फैले हुए हैं। 2020-21 में राज्य की जीएसडीपी में औद्योगिक क्षेत्र की हिस्सेदारी 43.84% थी।

सेवाएँ: उत्तराखंड में सेवा क्षेत्र में आईटी, स्वास्थ्य सेवा, शिक्षा और पर्यटन जैसे विभिन्न उद्योग शामिल हैं। हाल के वर्षों में, सेवा क्षेत्र राज्य की अर्थव्यवस्था में एक महत्वपूर्ण योगदानकर्ता के रूप में उभरा है। 2020-21 में उत्तराखंड की जीएसडीपी में सेवा क्षेत्र की हिस्सेदारी 33.30% थी।



उत्तराखंड की अर्थव्यवस्था के मुख्य क्षेत्र और संभावनाएं 

कृषि उत्तराखंड में ग्रामीण अर्थव्यवस्था का मुख्य आधार है, और राज्य अनाज, तिलहन, फलों और सब्जियों के उत्पादन के लिए जाना जाता है। उत्तराखंड में बागवानी भी एक महत्वपूर्ण क्षेत्र है, और राज्य सेब, आड़ू, नाशपाती और अन्य फलों का एक महत्वपूर्ण मात्रा में उत्पादन करता है। राज्य सरकार ने सिंचाई, जैविक खेती और अन्य आदानों के लिए सब्सिडी प्रदान करने सहित कृषि और बागवानी का समर्थन करने के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं।

उत्तराखंड में पर्यटन एक अन्य महत्वपूर्ण क्षेत्र है, और यह राज्य अपनी प्राकृतिक सुंदरता, वन्य जीवन, साहसिक खेलों और धार्मिक स्थलों के लिए जाना जाता है। पर्यटन उद्योग आतिथ्य, यात्रा और साहसिक खेलों जैसे क्षेत्रों में रोजगार के अवसर पैदा करता है। राज्य सरकार ने पर्यटन को बढ़ावा देने और पर्यटन से संबंधित व्यवसायों को सहायता प्रदान करने के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं, जिनमें पर्यटन से संबंधित व्यवसायों की स्थापना के लिए वित्तीय सहायता, पर्यटक बुनियादी ढांचा विकसित करना और साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देना शामिल है।

लघु उद्योग भी उत्तराखंड की अर्थव्यवस्था का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं, राज्य औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के लिए कई प्रोत्साहन प्रदान करता है। राज्य खनिज, वन उत्पाद और जलविद्युत शक्ति जैसे प्राकृतिक संसाधनों से समृद्ध है, जो औद्योगिक विकास के अवसर प्रदान करते हैं।

हाल के वर्षों में, आईटी, स्वास्थ्य सेवा और शिक्षा जैसे उद्योगों के विकास के साथ, सेवा क्षेत्र भी उत्तराखंड की अर्थव्यवस्था में एक महत्वपूर्ण योगदानकर्ता के रूप में उभरा है। राज्य सरकार ने सेवा क्षेत्र के विकास को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं, जिसमें आईटी कंपनियों को राज्य में संचालन स्थापित करने के लिए प्रोत्साहन प्रदान करना शामिल है।

कुछ प्रमुख क्षेत्र में रोजगार की संभावनाएं 

 उत्तराखण्ड उत्तर भारत का एक ऐसा राज्य है जहां विविध अर्थव्यवस्था और रोजगार के अवसर प्रदान करने वाले कई क्षेत्र हैं। उत्तराखंड में नौकरी के अवसर प्रदान करने वाले कुछ प्रमुख क्षेत्र हैं:

राज्य के आर्थिक विकास में अन्य क्षेत्रों का योगदान पर्यटन: उत्तराखंड कई हिल स्टेशनों, धार्मिक स्थलों और साहसिक पर्यटन गतिविधियों के साथ एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। पर्यटन उद्योग आतिथ्य, यात्रा और साहसिक खेलों जैसे क्षेत्रों में रोजगार के अवसर पैदा करता है।

कृषि और बागवानी: उत्तराखंड में जैविक खेती पर महत्वपूर्ण ध्यान देने के साथ एक विशाल कृषि और बागवानी क्षेत्र है। यह क्षेत्र खेती, खाद्य प्रसंस्करण और कृषि व्यवसाय जैसे क्षेत्रों में रोजगार के अवसर प्रदान करता है।

विनिर्माण: राज्य में कई औद्योगिक क्षेत्रों और विशेष आर्थिक क्षेत्रों (एसईजेड) के साथ एक बढ़ता हुआ विनिर्माण क्षेत्र है। विनिर्माण क्षेत्र कपड़ा, फार्मास्यूटिकल्स, इंजीनियरिंग और इलेक्ट्रॉनिक्स जैसे क्षेत्रों में रोजगार के अवसर प्रदान करता है।

सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी): उत्तराखंड में आईटी क्षेत्र अभी भी बढ़ रहा है, लेकिन यह सॉफ्टवेयर विकास, वेब डिजाइन और आईटी-सक्षम सेवाओं जैसे क्षेत्रों में रोजगार के अवसर प्रदान करता है।

शिक्षा: उत्तराखंड में कई विश्वविद्यालय, कॉलेज और शैक्षणिक संस्थान हैं, जो शिक्षण और संबंधित क्षेत्रों में रोजगार के अवसर प्रदान करते हैं।

उत्तराखंड की अर्थव्यवस्था विविध है, इसके विकास और विकास में कई क्षेत्रों का योगदान है। राज्य सरकार ने आर्थिक विकास को बढ़ावा देने और विभिन्न क्षेत्रों को सहायता प्रदान करने के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं, जिससे राज्य का समग्र विकास और प्रगति हुई है।
इसे भी पढ़ें – चारधाम हाइवे प्रोजेक्ट के बारे में सम्पूर्ण जानकारी 

 

उत्तराखंड की अर्थववस्था के विकास के लिए सरकार चालयी  जा रही कुछ योजनाएं –

उत्तराखंड सरकार राज्य में रोजगार और उद्यमिता को प्रोत्साहित करने के लिए मेरे द्वारा पहले बताए गए क्षेत्रों से संबंधित कई योजनाओं की पेशकश करती है। कुछ योजनाएँ हैं:

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना: यह योजना युवाओं को अपना व्यवसाय शुरू करने या स्वरोजगार करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती है। यह योजना विनिर्माण और सेवा क्षेत्र के व्यवसायों के लिए 25 लाख रुपये तक और व्यापार और सेवा क्षेत्र के व्यवसायों के लिए 10 लाख रुपये तक का ऋण प्रदान करती है।

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम कौशल्य योजना: यह योजना ग्रामीण क्षेत्रों में युवाओं को उनकी रोजगार क्षमता में सुधार के लिए कौशल विकास प्रशिक्षण प्रदान करती है। यह योजना कृषि, बागवानी, पशुपालन, हस्तशिल्प और स्थानीय अर्थव्यवस्था से संबंधित अन्य कौशल जैसे क्षेत्रों में प्रशिक्षण प्रदान करती है।



मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना (पर्यटन क्षेत्र): यह योजना युवाओं को साहसिक खेल, होटल, होमस्टे और पर्यटन से संबंधित अन्य सेवाओं सहित पर्यटन से संबंधित व्यवसाय शुरू करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती है।

औद्योगिक और निवेश नीति 2020: इस नीति का उद्देश्य उद्योगों को सब्सिडी, कर छूट और रियायती दरों पर भूमि सहित विभिन्न प्रोत्साहन देकर उत्तराखंड में निवेश और औद्योगिक विकास को बढ़ावा देना है।

स्टार्ट-अप नीति 2020: इस नीति का उद्देश्य स्टार्ट-अप को वित्तीय सहायता, सलाह और अन्य सहायता प्रदान करके उत्तराखंड में उद्यमिता को बढ़ावा देना है।

स्वदेश दर्शन योजना: इस योजना का उद्देश्य उत्तराखंड में पर्यटन के बुनियादी ढांचे को विकसित करना और पर्यटन सर्किट को बढ़ावा देना है। इस योजना के तहत, सरकार पर्यटन स्थलों के विकास के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती है, जिसमें विरासत स्थल, तीर्थ सर्किट और इको-पर्यटन स्थल शामिल हैं।
इसे भी पढ़ें – मुख्यमंत्री उदीयमान खिलाडी उन्नयन योजना 

होमस्टे योजना: यह योजना स्थानीय लोगों को पर्यटकों को उनके घरों में आवास प्रदान करने के लिए प्रोत्साहित करती है। इस योजना के तहत, सरकार बुनियादी ढांचे, फर्नीचर और अन्य सुविधाओं सहित होमस्टे के विकास के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती है।

एडवेंचर टूर ऑपरेटर्स पॉलिसी: इस पॉलिसी का उद्देश्य उत्तराखंड में एडवेंचर टूरिज्म को बढ़ावा देना और एडवेंचर टूर ऑपरेटरों को सहायता प्रदान करना है। यह नीति निश्चित पात्रता मानदंडों को पूरा करने वाले एडवेंचर टूर ऑपरेटरों को वित्तीय सहायता और अन्य प्रोत्साहन प्रदान करती है।

पर्यटन प्रोत्साहन नीति: यह नीति राज्य में महत्वपूर्ण निवेश करने वाले पर्यटन से संबंधित व्यवसायों को प्रोत्साहन प्रदान करती है। प्रोत्साहन में कर छूट, सब्सिडी और अन्य वित्तीय सहायता शामिल हैं।

उत्तराखंड की अर्थव्यवस्था विविध है, इसके विकास और विकास में कई क्षेत्रों का योगदान है। राज्य सरकार ने आर्थिक विकास को बढ़ावा देने और विभिन्न क्षेत्रों को सहायता प्रदान करने के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं, जिससे राज्य का समग्र विकास और प्रगति हुई है।

 


यह पोस्ट अगर आप को अच्छी लगी हो तो इसे शेयर करें साथ ही हमारे इंस्टाग्रामफेसबुक पेज व  यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें। साथ ही हमारी अन्य वेबसाइट को भी विजिट करें। 

About the author

Deepak Bisht

नमस्कार दोस्तों | मेरा नाम दीपक बिष्ट है। मैं इस वेबसाइट का owner एवं founder हूँ। मेरी बड़ी और छोटी कहानियाँ Amozone पर उपलब्ध है। आप उन्हें पढ़ सकते हैं। WeGarhwali के इस वेबसाइट के माध्यम से हमारी कोशिश है कि हम आपको उत्तराखंड से जुडी हर छोटी बड़ी जानकारी से रूबरू कराएं। हमारी इस कोशिश में आप भी भागीदार बनिए और हमारी पोस्टों को अधिक से अधिक लोगों के साथ शेयर कीजिये। इसके अलावा यदि आप भी उत्तराखंड से जुडी कोई जानकारी युक्त लेख लिखकर हमारे माध्यम से साझा करना चाहते हैं तो आप हमारी ईमेल आईडी wegarhwal@gmail.com पर भेज सकते हैं। हमें बेहद खुशी होगी। जय भारत, जय उत्तराखंड।

Add Comment

Click here to post a comment

You cannot copy content of this page