Uttarakhand

UKSSSC यानि उत्तराखंड अधीनस्थ चयन आयोग | Uttarakhand Staff Selection Commission

UKSSSC यानि उत्तराखंड अधीनस्थ चयन आयोग | Uttarakhand Staff Selection Commission

UKSSSC  (Uttarakhand Staff Selection Commission) यानि जिसे हिंदी में हम उत्तराखंड अधीनस्थ चयन आयोग के नाम से जानते हैं। उत्तराखण्ड राज्यस्तरीय कर्मचारी चयन आयोग है। जिसके माध्यम से उत्तराखंड के विभिन्न विभागों में खाली पड़े पदों को भरने के लिए विज्ञप्ति देकर परीक्षा या सीधी भर्ती के माध्यम से इन पदों को भरा जाता है। ये पद उत्तराखंड के किसी भी सरकारी कार्यालय से संबंधित हो सकते हैं बशर्ते वह अधिनस्थ चयन आयोग की कार्य के दायरों में आता हो। 

UKSSSC का गठन कब हुआ? 

UKSSSC यानि उत्तराखंड अधिनस्थ चयन आयोग का गठन 17 सितबंर 2014 को हुआ। UKSSSC से पहले विभागीय स्तर पर ही योग्य कर्मचारियों का चयन किया जाता था। मगर इस चयन प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने के लिए राज्य सरकार ने उत्तराखंड अधिनियम संख्या 20 पास करके वर्ष 2014 में आयोग की स्थापना की। 

UKSSSC का मुख्य उद्देश्य क्य‍ा है? 

UKSSSC का मुख्य उद्देश्य राज्य के विभिन्न सरकारी कार्यालयों या विभागों के अंतर्गत अधिनस्थ सेवा या समूह ग के रिक्त पदों पर बेरोजगार योग्य युवकों व युवतियों को पारदर्शी प्रक्रिया के जरिए चयन प्रक्रिया प्रणाली द्वारा विभिन्न विभागों को भरना था। 

UKSSSC के प्रथम अध्यक्ष कौन थे? 

UKSSSC के प्रथम अध्यक्ष डा० आर०बी०एस०रावत थे। इन्होंने 26 सितंबर 2014 को आयोग के अध्यक्ष के तौर पर पद ग्रहण किया था। इनके साथ दो अन्य सदस्य दीवान सिंह भैंसोड़ा तथा महेश चंद्र द्वारा अपना पद भार क्रमशः 30 सितंबर 2014 व 10 अक्टूबर 2014 को ग्रहण किया था। 

UKSSSC की परीक्षाओं का सिलैबस कैसा होता है? 

UKSSSC की परीक्षाओं का सिलैबस विभिन्न पदों के अनुसार बदलता रहता है। यानि अगर भर्ती राज्टैय के क्निकल फील्ड, बिजली विभाग, पेयजल विभाग, लोनिवि, पीेडब्लयूडी आदि के अंतर्गत है तो विज्ञप्ति के आधार पर विषय विषयक योग्यता और उसका ज्ञान होना अति आवश्यक है। इसके अलावा सामान्य ग्रेजुएशन भर्ती परीक्षा में उत्तराखंड की जानकारी के साथ समान्य ज्ञान, समान्य विज्ञान, राजनीतिक शास्त्र, भूगोल, इतिहास, कंप्यूटर ज्ञान, तर्क शक्ति परीक्षण और सामान्य गणित के अलावा करेंट इंवेटस के बारे में जानकारी का होना आवश्यक है। उक्त परीक्षा में अक्सर सवाल इन्हीं विषयों के ईर्द गिर्द रहते हैं। इसके अलावा UKSSSC द्वारा विज्ञप्ति के जारी होने के बार भर्ती परीक्षा से संबंधित सिलैबस भी अपनी अधिकारिक साइट पर जारी कर दी जाती है। 

UKSSSC कितने वेतनमान तक की परीक्षाओं को संचालित करत‍ा है? 

UKSSSC उत्तराखंड के अंतर्गत आने वाली विभिन्न विभागों के अधिनस्थ कर्मचारियों व समूह ग के रिक्त पदों को भरने के लिए परीक्षाएं समय-समय पर आयोजित करता है। इन पदों का वेतनमान अधिकतम लेवल-6 तक ही होता है। इसके ऊपर की पोस्टों को अधिकतर उत्तराखंड लोकसेवा आयोग द्वारा भरा जाता है। मगर हालिया दिनों में देखा गया है कि उत्तराखंड अधिनस्थ चयन आयोग कभी -कभी लोक सेवा आयोग के अंतर्गत आने वाले न्यूनतम वेतनमान के पदों को भी भरने का कार्य कर रहा है। 

UKSSSC किस विभाग के अंतर्गत आता है? 

UKSSSC / अधिनस्थ चयन आयोग उत्तराखंड के कार्मिक अनुभाग के अंतर्गत आता है। 

UKSSSC परीक्षा के लिए आवेदन कैसे करें

  • UKSSSC की आधिकारिक वेबसाइट sssc.uk.gov.in पर जाएं।
  • सभी भर्तियों को देखने के लिए नवीनतम नए टैब पर क्लिक करें।
  • आधिकारिक अधिसूचना देखने के लिए UKSSSC Recruitment पर क्लिक करें।
  • आवेदन फॉर्म खोलने के लिए अप्लाई ऑनलाइन बटन पर क्लिक करें।
  • आवश्यक विवरण के साथ आवेदन पत्र भरें और आवश्यक दस्तावेज अपलोड करें।
  • आवेदन पत्र भरने के बाद, आपके द्वारा दर्ज किए गए सभी विवरणों को अपने प्रमाणपत्रों के अनुसार सही है।
  • अपनी श्रेणी के आधार पर आवेदन शुल्क का भुगतान करें और अपने आवेदन पत्र और शुल्क रसीद दोनों का प्रिंट आउट लें।

 

क्या अभ्यर्थी ओ0टी0आर0 (OTR) में अपना डाटा परिवर्तन कर सकता है?

उत्तर- हाँ, अभ्यर्थी कभी भी  ओ0टी0आर0(OTR) में लॉगिन कर अपना डाटा(नाम,पिता का नाम व जन्म तिथि को छोड़कर)परिवर्तन कर सकता है | ओ0टी0आर0(OTR) में अभ्यर्थी का नाम ,पिता का नाम, व जन्मतिथि को परिवर्तन करने हेतु अभ्यर्थी को OTR Update बटन पर क्लिक कर अपने आधार कार्ड की डीटेल व हाइस्कूल की अंकतालिक को अपलोड करना होगा व Online Submit करना होगा| आयोग  द्वारा परीक्षण करने के बाद आपके द्वारा की गयी Online Request के आधार पर ओ०टी०आर०(OTR) में अपडेट किया जायेगा|

अभ्यर्थी का ओ०टी०आर०(OTR) का डाटा आपके द्वारा भरे जा रहे पद के सापेक्ष आवेदन पत्र में स्वत: ही प्रदर्शित हो जाएगा अत: अभ्यर्थी अपना ओ०टी०आर०(OTR) सावधानी से भरें | यदि अभ्यर्थी अपना ओ०टी०आर०(OTR) सही से नहीं भरता है तो उसके द्वारा भरे जा रहे आवेदन पत्र के डाटा में त्रुटि आ सकती है | जिसके लिए अभ्यर्थी को अपना आवेदन पत्र निरस्त करना होगा व पुन: ओ0टी0आर0(OTR) में जा कर त्रुटि को सही कर शुल्क सहित पुन: आवेदन पत्र सबमिट(SUBMIT) करना होगा |


यह पोस्ट अगर आप को अच्छी लगी हो तो इसे शेयर करें साथ ही हमारे इंस्टाग्रामफेसबुक पेज व  यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें। साथ ही हमारी अन्य वेबसाइट को भी विजिट करें। 

About the author

Deepak Bisht

नमस्कार दोस्तों | मेरा नाम दीपक बिष्ट है। मैं इस वेबसाइट का owner एवं founder हूँ। मेरी बड़ी और छोटी कहानियाँ Amozone पर उपलब्ध है। आप उन्हें पढ़ सकते हैं। WeGarhwali के इस वेबसाइट के माध्यम से हमारी कोशिश है कि हम आपको उत्तराखंड से जुडी हर छोटी बड़ी जानकारी से रूबरू कराएं। हमारी इस कोशिश में आप भी भागीदार बनिए और हमारी पोस्टों को अधिक से अधिक लोगों के साथ शेयर कीजिये। इसके अलावा यदि आप भी उत्तराखंड से जुडी कोई जानकारी युक्त लेख लिखकर हमारे माध्यम से साझा करना चाहते हैं तो आप हमारी ईमेल आईडी wegarhwal@gmail.com पर भेज सकते हैं। हमें बेहद खुशी होगी। जय भारत, जय उत्तराखंड।

Add Comment

Click here to post a comment

You cannot copy content of this page