Viral News

देहरादून : अंतरिक्ष में स्थापित इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन को देख सकेंगे दून वासी.. बिना टेलिस्कोप, दूरबीन के भी देख सकेंगे

इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन

 

अंतरिक्ष को करीब से जानने तथा तारा मंडल में हो रही गतिविधियों पर नजर रखने के लिए वर्ष 1998 में स्थापित इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (आईएसएस) 19 अक्टूबर की सुबह जब आसमान से गुजरेगा, तो ये नजारा काफी रोमांचित करने वाला होगा। जी हाँ, अंतरिक्ष में स्थापित आईएसएस 19 से 26 अक्टूबर तक उत्तर भारत के आसमान में चहल कदमी करता हुआ दिखाई देगा। इस नजारे को उत्तर भारत के अलग-अलग कोने से देखा जा सकता है जिसमें उत्तराखंड देहरादून शहर भी  है।




67 डिग्री दक्षिण-पूर्व दिशा में गुजरते हुए इस मानवनिर्मित उपग्रह को आप नंगी आखों से देख सकते हैं। इसके लिए किसी भी प्रकार के दूरबीन या टेलीस्कोप की आवश्यकता नहीं है । बस आपको तय समय पर सही दिशा में नजर बनाए रखना होगा ।

धरती से 420 किमी की ऊंचाई पर 17,500 मील प्रति घंटे की रफ्तार से पृथ्वी का चक्कर लगा रहे इस स्पेस स्टेशन को देखने के लिए आप 19 अक्टूबर की सुबह 5:38 से 5:44 के बीच दक्षिण पूर्व दिशा में तथा 22 और 23 अक्टूबर को 4:07 व 4:08 के बीच नजर बनाये रखें । इसके अलावा अन्य दिनांकों में यह मानव निर्मित स्टेशन सुबह 5 से 6 बजे के बीच दिखाई देगा।



बताया जा रहा है कि 21 अक्टूबर के दिन यह स्पेस स्टेशन बहुत चमकीला नजर आयेगा। 17,500 मील प्रति घंटे की रफ्तार से पृथ्वी का चक्कर लगा रहा यह स्टेशन एक दिन में करीब 16 बार पृथ्वी की परिधि पर चक्कर लगाता है। जिससे स्पेस स्टेशन में मौजूद अंतरिक्ष यात्री करीब 16 सूर्योदय व सूर्यास्त के नजारे देखते हैं।

सोमवार की सुबह जब यह देहरादून के आसमान से गुजरेगा तो ऐसा लगेगा मानो कोई टूटता तारा अंतरिक्ष में गुजर रहा हो। आप अगर स्पेस स्टेशन को ट्रेक करना चाहते हैं तो नासा की वेबसाइट spothestation.naga.gov पर जाकर आप जानकारी ले सकते हैं। इसके अलावा आप मोबाइल एप आईएसएस डिटेक्टर भी डाउनलोड कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें – नरभक्षी तेंदुओं की कहानी सुनाएंगे जॉन हुकिल, पौड़ी के हैं ब्रैंड अम्बेस्डर 

जड़ी बूटियों की खेती कर सकती है पहाड़वासियों को मालामाल 


इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन | अगर आपके पोस्ट  अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करें साथ ही हमारे इंस्टाग्रामफेसबुक पेज व  यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें।

About the author

Deepak Bisht

नमस्कार दोस्तों | मेरा नाम दीपक बिष्ट है। मैं पेशे से एक journalist, script writer, published author और इस वेबसाइट का owner एवं founder हूँ। मेरी किताब "दो पल के हमसफ़र " amazon पर उपलब्ध है। आप उसे पढ़ सकते हैं। WeGarhwali के इस वेबसाइट के माध्यम से हमारी कोशिस है कि हम आपको उत्तराखंड से जुडी हर छोटी बड़ी जानकारी से रूबरू कराएं। हमारी इस कोशिस में आप भी भागीदार बनिए और हमारी पोस्टों को अधिक से अधिक लोगों के साथ शेयर कीजिये। इसके आलावा यदि आप भी उत्तराखंड से जुडी कोई जानकारी युक्त लेख लिखकर हमारे माध्यम से साझा करना चाहते हैं तो आप हमारी ईमेल आईडी wegarhwal@gmail.com पर भेज सकते हैं। हमें बेहद खुशी होगी। मेरे बारे में ज्यादा जानने के लिए आप मेरे सोशल मीडिया अकाउंट से जुड़ सकते हैं। :) बोली से गढ़वाली मगर दिल से पहाड़ी। जय भारत, जय उत्तराखंड।

Add Comment

Click here to post a comment