Uttarakhand Study Material Uttarakhand

कुमाऊं अंग्रेजी कमिश्नर की सूचि | Kumaun Commissioners List

कुमाऊं अंग्रेजी कमिश्नर : उत्तराखंड के टिहरी रियासत को  छोड़ कर सम्पूर्ण उत्तराखंड पर अंग्रेजों का अधिकार था। उत्तराखंड के इन अंग्रेजी अधिपत्य क्षेत्रों में प्रशासन को सुचारु रूप से चलाने के लिए उसे कमिश्नरी में बांटा गया था। 1839

Advertisement
से पहले कुमाऊं कमिश्नर ही गढ़वाल और कुमाऊं की प्रशानिक व्यवस्था संभालता था। इन कमिशनरों के पास न्यायिक व प्रशासनिक शक्ति होती थी। कमिश्नर की सहायता के लिए डिप्टी कमिश्नर, डिप्टी कलेक्टर, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, पटवारी, थोकदार, प्रधान सयाणा आदि अधिकारी होते थे। 
इसे भी पढ़ें – उत्तराखंड में हुए प्रमुख जन आंदोलन 

कुमाऊं कमिशनरी को बंगाल प्रेसीडेंसी से सम्बद्ध किया गया था। 1839 में गढ़वाल को दूसरा जिला बनाने के बाद गढ़वाल कमिश्नर पौड़ी में निवास करता था। नीचे उत्तराखंड के कुमाऊं कमिश्नरी में कमिश्नर के पद पर रह चुके अंग्रेजी अधिकारीयों की सूचि दी गयी है। जो स्वतंत्रता प्राप्ति तक चलती रही। कुमाऊं अंग्रेजी कमिश्नर के बारे में जानकारी परीक्षा के लिहाज से भी उपयोगी है इसलिए इसे ध्यान से पढ़ें। 



कुमाऊं अंग्रेजी कमिश्नर की सूचि | Kumaun Commissioners List

 

कमिश्नर का नाम  कार्यकाल 
ई० गार्डनर  सन 1815 – 16 ई० 
जी० डब्ल्यू ट्रेल  सन 1816 – 30 ई० 
कर्नल गोबन  सन 1830 – 39 ई० 
लशिगटन  सन 1839 – 47 ई० 
जे० एन० बैटन  सन 1848 – 56 ई० 
सर हैनरी रैमजे  सन 1856 – 84 ई० 
फिशर  सन 1884 – 85 ई० 
एच० जी० रौस  सन 1885 – 87 ई० 
जे० आर० ग्रिग  सन 1888 – 89 ई० 
जी० ई० अर्सकिन  सन 1889 – 92 ई० 
डी० टी० रॉबर्ट्स  सन 1892 – 94 ई० 
ई० ई० ग्रिज  सन 1894 – 98 ई० 
आर० ई० हैम्बलिन  सन 1899 – 1902 ई० 
ए० एम० डब्ल्यू० शैक्सपियर  सन 1903 – 05 ई० 
जे० एस० कैम्पवेल  सन 1906 – 14 ई० 
पर्सी विंडम  सन 1914 – 24 ई०  
एन० सी० स्टिप्फ  सन 1925 – 31 ई०  
एल० एम० स्टब्स  सन 1931 – 33 ई० 
एल० ओ० गोयन  सन 1933 – 35 ई० 



ए० डब्ल्यू०  इबट्सन  सन 1935 – 39 ई० 
जी० एल० विवियन  सन 1939 – 41 ई० 
टी० जे० सी० एक्टन  सन 1941 – 43 ई० 
डब्ल्यू० डब्ल्यू० फिनले  सन 1943 – 47 ई० 
के० एल० मेहता  सन 1947 – 48 ई० 

 

इसे भी पढ़ें – उत्तराखंड में गोरखा शासन 


कुमाऊं अंग्रेजी कमिश्नर (Kumaun Commissioners List) यह पोस्ट अगर आप को अच्छी लगी हो तो इसे शेयर करें साथ ही हमारे इंस्टाग्रामफेसबुक पेज व  यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें।

About the author

Deepak Bisht

नमस्कार दोस्तों | मेरा नाम दीपक बिष्ट है। मैं इस वेबसाइट का owner एवं founder हूँ। मेरी बड़ी और छोटी कहानियाँ Amozone पर उपलब्ध है। आप उन्हें पढ़ सकते हैं। WeGarhwali के इस वेबसाइट के माध्यम से हमारी कोशिश है कि हम आपको उत्तराखंड से जुडी हर छोटी बड़ी जानकारी से रूबरू कराएं। हमारी इस कोशिश में आप भी भागीदार बनिए और हमारी पोस्टों को अधिक से अधिक लोगों के साथ शेयर कीजिये। इसके अलावा यदि आप भी उत्तराखंड से जुडी कोई जानकारी युक्त लेख लिखकर हमारे माध्यम से साझा करना चाहते हैं तो आप हमारी ईमेल आईडी wegarhwal@gmail.com पर भेज सकते हैं। हमें बेहद खुशी होगी। जय भारत, जय उत्तराखंड।

Add Comment

Click here to post a comment

Advertisement Small

About Author

Tag Cloud

Bagji Bugyal trek Brahma Tal Trek Chamoli District Bageshwar History of tehri kedarnath lakes in uttarakhand Mayali Pass Trek new garhwali song Rudraprayag Sponsor Post Tehri Garhwal UKSSSC uttarakhand Uttarakhand GK uttarakhand history अल्मोड़ा उत्तरकाशी उत्तराखंड उत्तराखंड का इतिहास उत्तराखंड की प्रमुख नदियां उत्तराखंड के 52 गढ़ उत्तराखंड के खूबसूरत ट्रेक उत्तराखंड के पारंपरिक आभूषण उत्तराखंड के प्रमुख पर्वत शिखर उत्तराखंड के लोकगीत एवं संगीत उत्तराखंड में स्तिथ विश्वविद्यालय उत्तराखण्ड में गोरखा शासन ऋषिकेश कल्पेश्वर महादेव मंदिर कसार देवी काफल केदारनाथ चमोली जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान टिहरी ताड़केश्वर महादेव नरेंद्र सिंह नेगी पिथौरागढ़ बदरीनाथ मंदिर मदमहेश्वर मंदिर रुद्रप्रयाग सहस्त्रधारा हरिद्वार हल्द्वानी

You cannot copy content of this page