Uttarakhand Uttarakhand Study Material

उत्तराखंड के प्रमुख पर्वत शिखर

उत्तराखंड के प्रमुख पर्वत शिखर

उत्तराखंड के प्रमुख पर्वत शिखर सदा हिमाच्छादित होने के कारण ही यहाँ मौजूद प्रमुख नदी तंत्र सदानीरा रहती है। इन पर्वत शिखरों के ही कारण यहाँ खूबसूरत हिमानी झीलें हैं। जिन्हें जल इन्हीं शिखरों से पिघलने वाले जल से प्राप्त होता है। तो कौन से हैं उत्तराखंड के प्रमुख पर्वत शिखर और क्या है उनकी लंबाई, आइए देखते हैं।


उत्तराखंड में नंदादेवी (7817), कामेट (7756), चौखंबा (7138), माणा (7237) जैसे प्रमुख पर्वत शिखर हैं जो मध्य हिमालय के अंतर्गत आती हैं। इन पर्वत श्रेणियों के ही  कारण उत्तराखंड के सुदूरवर्ती पर्वतीय इलाकों में मौसम में खासा अंतर् देखने को नहीं मिलता यही वजह है गर्मियों में शहरों से भागगर लोग इन पर्वत शिखरों की गोद में आ जाते हैं। नीचे  कुछ  पर्वत शिखरों के बारे में दिया है। इन्हें ध्यान से पढ़ें।
इसे भी पढ़ें – उत्तराखंड में मौजूद प्रमुख नदियां एवं उनका अपवाह क्षेत्र 





 

उत्तराखण्ड के पर्वत एवं उनकी लंबाई (मी)

पर्वत श्रेणीऊँचाई (मीटर में)
नंदादेवी7817
कामेट7756
नंदादेवी पूर्व7434
माणा7237
चौखंबा7138
केदारनाथ6940
त्रिशूली7075
पंचजुली6905
नंदाकोट6861
मृगुधुनि6855
देववन6853
हाथी पर्वत6725
नीलकंठ पर्वत6596
बंदरपूछ6315
नंदाघुघटी6309
गौरी पर्वत6250
गुन्नी6179
युगटांगटो5945
सतोपंथ7075

 



इसे भी पढ़ें – उत्तराखण्ड में मौजूद प्रमुख दर्रे 

इसे भी पढ़ें – उत्तराखण्ड में मौजूद जल विद्युत परियोजनाएँ और बाँध


यह पोस्ट अगर आप को अच्छी लगी हो तो इसे शेयर करें साथ ही हमारे इंस्टाग्रामफेसबुक पेज व  यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें।

About the author

Deepak Bisht

नमस्कार दोस्तों | मेरा नाम दीपक बिष्ट है। मैं पेशे से एक journalist, script writer, published author और इस वेबसाइट का owner एवं founder हूँ। मेरी किताब "दो पल के हमसफ़र " amazon पर उपलब्ध है। आप उसे पढ़ सकते हैं। WeGarhwali के इस वेबसाइट के माध्यम से हमारी कोशिस है कि हम आपको उत्तराखंड से जुडी हर छोटी बड़ी जानकारी से रूबरू कराएं। हमारी इस कोशिस में आप भी भागीदार बनिए और हमारी पोस्टों को अधिक से अधिक लोगों के साथ शेयर कीजिये। इसके आलावा यदि आप भी उत्तराखंड से जुडी कोई जानकारी युक्त लेख लिखकर हमारे माध्यम से साझा करना चाहते हैं तो आप हमारी ईमेल आईडी wegarhwal@gmail.com पर भेज सकते हैं। हमें बेहद खुशी होगी। मेरे बारे में ज्यादा जानने के लिए आप मेरे सोशल मीडिया अकाउंट से जुड़ सकते हैं। :) बोली से गढ़वाली मगर दिल से पहाड़ी। जय भारत, जय उत्तराखंड।

Add Comment

Click here to post a comment