Travel

Benital Chamoli Garhwal : A picnic spot | बेनीताल, चमोली गढ़वाल

benital chamoli garhwal
benital chamoli garhwal

यूँ तो उत्तराखंड प्रकृति की सुन्दर दृश्यों से सरोबोर है। यहाँ मौजूद कोई न कोई पर्यटक स्थल आपको आकर्षित करता रहता है। मगर आज आपको चमोली में स्तिथ एक ऐसे पर्यटक स्थल के बारे में जानकारी देंगे जो रोड से कनेक्टेड है और प्रकृति के अद्भुत नजरों को समेटे हुए है। इस जगह का नाम है बेनीताल (Benital Chamoli Garhwal)।  तो आइए बेनीताल (Benital Chamoli Garhwal) को थोड़ा करीब से जाने।


बेनीताल, चमोली गढ़वाल | Benital Chamoli Garhwal

 

बेनीताल उत्तराखंड के चमोली जिले में कर्णप्रयाग से मात्र 30 किमी की दूरी पर स्तिथ है।  पहाड़ के बीच में स्तिथ यह ताल देखने में बेहद खूबसूरत लगता है। बेनीताल उत्तराखंड के कम ज्ञात जगहों में से एक है।  ताड़, देवदार के वृक्षों से घिरा यह हरी घास का ढलान से हिमालय की बर्फीली चोटियों का सुन्दर नजारा देखने को मिलता है। वहीं यह चमोली चाय के बागान के पास भी है।  बरसात के समय इस इलाके की सुंदरता और बढ़ जाती है।  चारों तरफ कोहरे और हरी घास की चादर से ऐसा लगता है मानो किसी ने केनवास में रंगो से एक सुन्दर चित्र खींच लिया हो। वही आसपास चरते पशु आपको एक खूबसूरत एहसास से रूबरू करते है।  यह एहसास यहाँ के लोकल लोगो के लिए न्य नहीं है मगर उन लोगों के लिए नया है जो शहरी शोर में सादगी का एहसास भूल चुके हैं।  शांत पड़े इस वीराने में जानवरों के गलों में बजती घंटियां प्रकृति के साथ मिलकर अनोखे संगीत का निर्माण करती है। तो वहीं धीमे धीमे बहती हवा कानो में हौले-हौले गुन-गुनाने लगती है।

 

 




बेनीताल एक पिकनिक स्पॉट | Benital, A picnic spot

benital chamoli garhwal चमोली के गैरसैण ब्लॉक में आदिबद्री के नजदीक स्तिथ बेनीताल में नजदीक स्तिथ गांव वाले अपने पशुओं को चराने इन जंगलों में लेकर आते हैं। पशु दिन भर बेनीताल के आस पास चरते हैं फिर इस झील में पानी पीकर अपनी प्यास बुझाते हैं। वर्षों से यह इलाका चरवाहों की भूमि रहा है।  मगर कुछ वर्षों से यह आस-पास के इलाकों में एक पर्यटन स्थल बन चुका  है। चमोली, रुद्रप्रयाग के आसपास के इलाकों से लोग यहाँ पिकनिक के लिए आते हैं और दिनभर बेनीताल की ढलानों में बिछी नर्म हरी मखमली घास में प्रकृति के शांत वातावरण का आनंद लेकर शाम ढलते ही घर चले जाते हैं।

 

 



benital chamoli garhwalअगर आप कैंपिंग करके एक रात गुजरना चाहते हैं तो आप अपने साथ साजो सामान लेकर टेंट लगा कर ठहर सकते हैं। क्यूंकि यह इलाका अभी भी पर्यटन की दृष्टि से अज्ञात है तो आप अपने साथ खाने पीने का सामान पहले से ही रख लें । रात में यह इलाका और भी खूबसूरत लगता है। बेनीताल के आस-पास एक दो घर भी मौजूद हैं जहाँ आप रात गुजार सकते हैं। बनिताल में साल में एक बार मेले का आयोजन भी होता है। जिसे  देखने दूर-दूर से लोग आते हैं।

 

इसे भी पढ़ें – बिसुरीताल, एक अनोखी झील 

 


कैसे पहुंचे बेनीताल ? | How to Reach Benital

  • देहरादून \ऋषिकेश \ हरिद्वार – रुद्रप्रयाग
  • रुद्रप्रयाग – कर्णप्रयाग
  • कर्णप्रयाग – बेनीताल

नोट – बेनीताल के लिए आपको चमोली के कर्णप्रयाग जाना होगा। जो रुद्रप्रयाग से मात्र 30 किमी दूर है।

हवाई जहाज – निकटतम हवाई अड्डा जॉली ग्रांट हवाई अड्डा है यहाँ से कर्णप्रयाग तक  की दूरी लगभग 218 किलोमीटर हैं। यहाँ से कर्णप्रयाग  तक आसानी से टैक्सी अथवा कार से जा सकते हैं | कर्णप्रयाग रुद्रप्रयाग से मात्र 30 किमी की दूरी पर स्तिथ है। जहां से बेनीताल भी लगभग इतनी ही दूरी पर स्तिथ है

ट्रेन- निकटतम रलवे स्टेशन ऋषिकेश रेलवे स्टेशन हैं| यहाँ से कर्णप्रयाग तक की दूरी लगभग 203 किलोमीटर हैं यहाँ से कर्णप्रयाग तक आसानी से टैक्सी अथवा कार से जा सकते हैं |

 



बेनीताल का 360 डिग्री नजारा | 360 Degree View Of Benital Chamoli

इसे भी पढें  –


दोस्तों  ये थी उत्तराखंड में मौजूद पर्यटन स्थल बेनीताल (Benital Chamoli Garhwal) के बारे में जानकारी। यदि आपको बेनीताल (Benital Chamoli Garhwal) से जुडी जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर करें साथ ही हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें।

About the author

Deepak Bisht

नमस्कार दोस्तों | मेरा नाम दीपक बिष्ट है। मैं पेशे से एक journalist, script writer, published author और इस वेबसाइट का owner एवं founder हूँ। मेरी किताब "दो पल के हमसफ़र " amazon पर उपलब्ध है। आप उसे पढ़ सकते हैं। WeGarhwali के इस वेबसाइट के माध्यम से हमारी कोशिस है कि हम आपको उत्तराखंड से जुडी हर छोटी बड़ी जानकारी से रूबरू कराएं। हमारी इस कोशिस में आप भी भागीदार बनिए और हमारी पोस्टों को अधिक से अधिक लोगों के साथ शेयर कीजिये। इसके आलावा यदि आप भी उत्तराखंड से जुडी कोई जानकारी युक्त लेख लिखकर हमारे माध्यम से साझा करना चाहते हैं तो आप हमारी ईमेल आईडी wegarhwal@gmail.com पर भेज सकते हैं। हमें बेहद खुशी होगी। मेरे बारे में ज्यादा जानने के लिए आप मेरे सोशल मीडिया अकाउंट से जुड़ सकते हैं। :) बोली से गढ़वाली मगर दिल से पहाड़ी। जय भारत, जय उत्तराखंड।

Add Comment

Click here to post a comment