Travel Uttarakhand

लैंसडाउन : गढ़वाल का एक खूबसूरत शहर

lansdowne, St Mary Church

लैंसडाउन | Lansdowne

उत्तराखण्ड राज्य के पौड़ी गढ़वाल जिले में एक छावनी शहर स्थित है, लैंसडाउन (Lansdowne)। यह गढ़वाल रेजिमेंट के पराक्रमी सैनिकों को तैयार करने वाली छावनी है। जो घूमने की हिसाब से बेहद खूबसूरत हिल है। यहां का मौसम पूरे साल सुहावना बना रहता है । हर तरफ फैली हरियाली आपको एक अलग दुनिया का एहसास कराती है । दरअसल , इस जगह को अंग्रेजों ने पहाड़ों को काटकर बसाया था । खास बात यह है कि दिल्ली से यह हिल स्टेशन काफी नजदीक है । आप 8-10 घंटे में लैंसडाउन पहुंच सकते हैं । अगर आप बाइक से लैंसडाउन जाने की प्लानिंग कर रहे हैं तो आनंद विहार के रास्ते दिल्ली से उत्तर प्रदेश में एंट्री करने के बाद मेरठ , बिजनौर और कोटद्वार होते हुए लैंसडाउन पहुंच सकते हैं । गढ़वाल राइफल्स का गढ़ खूबसूरत हिल स्टेशन लैंसडाउन को अंग्रेजों ने वर्ष 1887 में बसाया था । उस समय के वायसराय ऑफ इंडिया लॉर्ड लैंसडाउन के नाम पर ही इसका नाम रखा गया । वैसे , इसका वास्तविक नाम कालूडाला है । यह पूरा क्षेत्र सेना के अधीन है और गढ़वाल राइफल्स का गढ़ भी है । आप यहां गढ़वाल राइफल्स वॉर मेमोरियल और रेजिमेंट म्यूजियम देख सकते हैं । यहां गढ़वाल राइफल्स से जुड़ी चीजों की झलक पा सकते हैं । म्यूजियम शाम के 5 बजे तक खुला रहता है । इसके करीब ही परेड ग्राउंड है , जिसे आम टूरिस्ट बाहर से ही देख सकते हैं । वैसे , यह स्थान स्वतंत्रता आदोलन की कई गतिविधियों का गवाह भी रह चुका है ।

 

लैंसडाउन में घूमने की जगह | Places to Visit in Lansdowne

प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर इस इलाके में देखने लायक काफी कुछ है । प्राकृतिक छटा का आनंद लेने के लिए टिप इन टॉप जाया जा सकता है । यहां से बर्फीली चोटियों का मनोरम दृश्य देखा जा सकता है । दूर – दूर तर फैले पर्वत और उनके बीच छोटे – छोटे कई गांव आसानी से देखे जा सकते हैं । इनके पीछे से उगते सूरज का नजारा अद्भुत प्रतीत होता है । साफ मौसम में तो बर्फ से ढके पहाड़ों की लम्बी श्रृंखला दिखती हैं । लैंसडाउन  प्राकृतिक और भौगोलिक खूबसूरती प्रयटकों को साल भर अपनी और आकर्षित करती है।  लैंसडाउन में घूमने की बहुत सी जगह है जिसमें शामिल है भुल्ला ताल लेक, टिप इन टॉप, सेंट मैरी चर्च , ताड़केश्वर मंदिर, गढ़वाल राइफल्स वॉर मेमोरियल आदि।  यहाँ आकर ऐसा लगता है मानो  किसी ने कैनवास पर खूबसूरत रंगों से कोई दृश्य खींच लिया हो।

 

टिप इन टॉप

टिप इन टॉप लैंसडाउन (Lansdowne) से लगभग दो किलोमीटर की ऊंचाई पर स्तिथ एक स्थान है जहाँ पहुंच कर आप दूर दूर तक फैले हिमालय के हिमाच्छादित शिखरों को देख सकते हैं। इसके अलावा यह स्थान पिकनिक स्पॉट के लिए  भी खासा प्रसिद्ध है।

 

St. Marry Church, Lansdowne
St. Marry Church, Lansdowne

सेंट मैरी चर्च

लैंसडाउन के पास में ही 100 साल से ज्यादा पुराना सेंट मैरी का चर्च भी हैं। जो अंग्रेजो द्वारा निर्मित है। यह खूबसूरत चर्च टिप  ही पड़ता है।

 

 

Bhulla Tal, Lansdowne
Bhulla Tal, Lansdowne

भुल्ला ताल लेक

लैंसडाउन में स्तिथ भुल्ला ताल बहुत प्रसिद्ध है । यह एक छोटी – सी झील है जहाँ नौकायन की सुविधाएँ उपलब्ध हैं । इस झील के किनारे बैठ कर प्रकृति की अद्भुत शांति को महसूस कर सकते हैं।

 

 

Tadkeshwar Mahadev Mandir
Tadkeshwar Mahadev Mandir

ताड़केश्वर और संतोषी माता मंदिर

लैंसडाउन में  शाम को सूर्यास्त का खूबसूरत नजारा संतोषी माता मंदिर से दिखता है । यह मंदिर लैंसडाउन की ऊची पहाड़ी पर बना हुआ है । यहां से कुछ किलोमीटर की दूरी पर ताड़केश्वर मंदिर भी है । भगवान शिव का यह प्राचीन मंदिर पहाड़ पर 2092 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है । इसे सिद्ध पीठ भी माना जाता है । पूरा मंदिर ताड़ और देवदार के वृक्षों से घिरा है ।

 

 

 

 

Garhwal Rifels war memorial, Lansdowne
Garhwal Rifels war memorial, Lansdowne

गढ़वाल राइफल्स वॉर मेमोरियल

लैंसडाउन (Lansdowne) को गढ़वाल राइफल्स के जाबांज सैनिकों का गढ़ भी कहा जाता है। गढ़वाल राइफल्स में भर्ती हुए नए रंगरूटों को यहीं ट्रेनिंग दी जाती है। यहाँ गढ़वाल राइफल्स के शूरवीर सैनिकों की याद में बनाया गया वॉर मेमोरियल भी स्तिथ है। यह वॉर मेमोरियल शाम 5 बजे तक खुला रहता है। यहाँ पर्यटक गढ़वाल राइफल्स के आजादी से पहले व बाद के सैनिकों के पराक्रम से वाकिफ़ हो सकते हैं।

 

 

लैंसडाउन का यह पूरा इलाका बेहद ही खूबसूरत होने के साथ – साथ शांत भी है । सैलानी यहा पहाड़ पर ट्रैकिंग करने , बाइकिंग , साईक्लिग जैसे साहसी खेलों के लिये भी आते हैं ।

 

कैसे पहुंचें? |  How to Reach?

भारत की राजधानी दिल्ली से लैंसडाउन करीब 270 किमी की दूरी पर है । यहाँ विभिन्न मार्गों से पहुँचा जा सकता है

• सड़क मार्गः लैंसडाउन कोटद्वार होकर कई शहरों से जुड़ा हुआ है । प्राइवेट और सरकारी बसें कोटद्वार तक जाती है , जहां से लैंसडाउन करीब 40 किमी . की दूरी पर है।

रेल : नजदीकी रेलवे स्टेशन कोटद्वार है । वहां से फिर टैक्सी आदि से लैंसडाउन पहुंचा जा सकता है ।

• हवाई अड्डाः यहां का सबसे नजदीकी हवाई अड्डा जौलीगॉट एयरपोर्ट है , जो लेसद्धासन से करीब 152 किमी लैंस डाउन जाने के लिए सबसे अच्छा सम्य मार्च से लेकर नवम्बर तक है । इन दिनों यहां का वातावरण बहुत मधुर और सुहावना बन जाता है जो इस स्थान का आनन्द लेने का सही समय है

इसे भी पढें  –

 


By Pradeep Chaudhary

तो ये थी उत्तराखंड के एक खूबसूरत शहर लैंसडाउन (Lansdowne) के बारे में यदि आपको लैंसडाउन  (Lansdowne) से जुडी जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर करें साथ ही हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें।