Temple Uttarakhand

उत्तराखंड में स्थित सभी प्रमुख मंदिर | All major temples in Uttarakhand

उत्तराखंड में स्थित सभी प्रमुख मंदिर | All major temples in Uttarakhand

उत्तराखंड में स्थित सभी प्रमुख मंदिर (उत्तराखंड मंदिर लिस्ट)- दोस्तों उत्तराखंड को देव भूमि के नाम से जाना जाता है। मगर जब सवाल मंदिरों का आता है तो कुछ एक मंदिरों के अलावा यहाँ स्थित मंदरों के बारे में जानकारी देखने को नहीं मिलती। इसलिए हम आपके लिए उत्तराखंड में स्थित सभी प्रमुख मंदिर के बारे में जानकारी लाए हैं। इन मंदिरों में उत्तराखंड में स्थित देवी मंदिर, शिव मंदिर, नारायण मंदिर, नाग मंदिर और विभिन्न शक्तिपीठों का नाम व उनका स्थान के बारे में जानाकरी है। 

उम्मीद करते हैं आपको उत्तराखंड में स्थित सभी प्रमुख मंदिर के बारे में यह पोस्ट अच्छी लगेगी। यह सम्पूर्ण जानकारी हमने विभिन्न स्त्रोतों से ली है जिसमें डा० राजेंद्र प्रसाद बलोदी जी किताब उत्तराखंड समग्र ज्ञान कोश ने बहुत मदद की। अगर इनके अलावा कुछ प्रमुख और प्रसिद्ध मंदिर छूट जाते हैं तो आप उनके बारे में हमें जानकारी दे  सकते हैं। हमें अच्छा लगेगा। 

उत्तराखंड में स्थित सभी प्रमुख मंदिर 

 

देवी मंदिर 

 

            नाम                  स्थान 
अनुसूया देवी मण्डल से 5 किमी की दूरी पर
बालानी देवीत्यूणी (चकराता) से 26 किमी 
चम्पावती दुर्गा मंदिरचम्पावत 
चौमुण्डा देवीगंगोत्तरी हाट से 2 किमी
चण्डी देवीहरिद्वार
चण्डिका माई (सिमली)कर्णप्रयाग से 6 किमी
चन्द्रबदनीजामनीखाल से 7 किमी
धारी देवीश्रीनगर गढ़वाल से 15 किमी
दूनागिरी मंदिरद्वाराहाट से 13 किमी
दुर्गा मंदिरकोटद्वार से 13 किमी
गर्जिया देवीरामनगर से 14 किमी
गौरा देवी (देवलगढ़)श्रीनगर से 10 किमी
गौरा माईगौरीकुण्ड (रुद्रप्रयाग)
हरियाली देवीनगरासू से 22 किमी
हथकाली मंदिर पिथौरागढ 
होकरा देवीविरथी झरने (पिथौरागढ) से 3 किमी
ज्वाल्पा देवीपौड़ी से 36 किमी
काली मंदिरचौखुटिया 
कामाख्या देवीपिथौरागढ़ से 3 किमी
कालिंका मंदिरगंगोलीहाट 
कसार देवीअल्मोड़ा से 7 किमी
कुन्जापुरीनरेन्द्र नगर से 13 किमी
महाकाली मंदिरकालीमठ-गुप्तकाशी से 10 किमी
मनसादेवीहरिद्वार 
नैना देवीनैनीताल 
नन्दादेवी (नौटी)कर्णप्रयाग से 25 किमी
नन्दादेवी चौकोरी से 3 किमी
नवदुर्गादेवीजोशीमठ
पूर्णागिरी माताटनकपुर
पुश्ती माताजागेश्वर 
सन्तला देवीगढ़ीकैण्ट देहरादून
श्रीकोटडीडीहाट
स्याही देवीशीतलाखेत से 3 किमी
सुरकण्डा देवीमसूरी से 24 किमी
त्रिपुरा देवीअल्मोड़ा 
उमा देवीकर्णप्रयाग 
वैष्णोदेवीचौखुटिया 
वैष्णो देवीदूनागिरी (द्वाराहाट)
वाराही देवीदेवीधुरा




 नाग मंदिर 

 

नाम  स्थान 
शेषनागपाण्डुकेश्वर 
भीखनागकीरत गाँव
माँगल नागकोतलारे
बनया नागकीमर गाँव
लोदिया नागनीति घाटी
पुष्कर नागनागनाथ
नाग देवपौड़ी 
कालिंगा नागरवांई
सुटियां नागटकनौर
नागराजासेम-मुखेम
महासर नागटकनौर
हूँण नागभदूरा
नागनाग ग्राम, टिहरी
कर्माजीत नागपिल्लू




शिव मंदिर 

 

नाम स्थान 
अगस्तेश्वर महादेवअगस्त्यमुनि 
बैजनाथकौसानी से 16 किमी
बाघनाथ बागेश्वर
बालेश्वर मंदिरचम्पावत 
बिनसर महादेवरानीखेत के निकट
बूढ़ा केदारमहासर ताल के निकट
द्वाराहाट मंदिर समूहद्वाराहाट 
जागेश्वर ज्योतिर्लिंग जागेश्वर
कल्पेश्वरकल्पनाथ
कमलेश्वर महादेवश्रीनगर गढ़वाल
कपिलेश्वर महादेवपिथौरागढ से 3 किमी
केदारनाथरूद्रप्रयाग 
कोटेश्वर महादेवरुद्रप्रयाग से 3 किमी
क्रान्तेश्वर महादेवचम्पावत की पूर्व दिशा में
मदमहेश्वररूद्रप्रयाग
मुकेश्वर नैनीताल से 51 किमी
नीलकण्ठ महादेवलक्ष्मण झूला से 22 किमी
ओंकारेश्वर ऊखीमठ
पंचेश्वरलोहाघाट से 37 किमी
कमलेश्वर महादेवजरमोला से 2 किमी
पाताल भुवनेश्वर गंगोलीहाट से 13 किमी
रामेश्वर घाट से 10 किमी
रूद्रनाथमण्डल से 17 किमी
सल्ट महादेवअल्मोड़ा 
शिव (रुद्र) मंदिररुद्रप्रयाग 
शिव मंदिरगोपेश्वर 
शिवलिंग तथा गुफाकोटद्वार से 3 किमी
सोमेश्वरकौसानी से 11 किमी
जलमग्न शिवलिंगगंगोत्तरी
टपकेश्वर महादेवदेहरादून
त्रियुगी नारायणसोनप्रयाग से 14 किमी
तुंगनाथचोपता से 4 किमी
वीरणेश्वर (शिव) मंदिरबिनसर 
विश्वनाथ मंदिरगुप्तकाशी
विश्वनाथ मंदिरउत्तरकाशी 
वृद्ध जागेश्वरबड़ा जागेश्वर




नारायण मंदिर 

 

नाम स्थान 
गोपाल मंदिरकाँडी चट्टी
साक्षी गोपाल मंदिर व्यासघाट के निकट
श्री रघुनाथ मंदिरदेवप्रयाग 
विष्णु मंदिर (ठाकुर द्वारा)विदाकोटि
विष्णु मंदिर शंकरमठ, विल्वकेदार से 2 किमी आगे
विष्णु मंदिर गौरोलामठ, श्रीनगर 
ठाकुर द्वारा कालीकमली के समीप, श्रीगर 
वैष्णवी शिलाधनुषक्षेत्र, श्रीयंत्र के पास
परशुराम आश्रम विष्णु मंदिर फरासू
विष्णु मंदिरशिवानन्दी रुद्रप्रयाग 
आदिबदरी  मंदिरकर्णप्रयाग से 20 किमी
विष्णु मंदिरपुष्कराश्रम नागनाथ
गोपालजी मंदिरहाटगाँव
नारायण मंदिरहाटगाँव
नृसिंह मंदिरपाखी
बदरीनाथ बदरीनाथ
वंशीनारायण मंदिरजोशीमठ
विष्णु मंदिरविष्णुप्रयाग
बासुदेव मंदिरपाण्डुकेश्वर
लक्ष्मीनारायण मंदिरठाकुर द्वारा, पौढ़ी
लक्ष्मीनारायण मंदिरनारायण कोटि
लक्ष्मीनारायण मंदिरत्रियुगी नारायण 
श्री रामचन्द्र मंदिरभोट
लक्ष्मीनारायण मंदिरभाली देवल
नृसिंह मंदिरनीलकण्ठ तीर्थ के पास
नारायण मंदिरनारायण बगड़
नारायाण मंदिरसिमली
विष्णु मंदिरचन्द्रपुरी
नारायण मंदिरदेवाल
नारायण मंदिरपिण्डवार




शक्तिपीठ 

 

नाम स्थान 
उर्वसी  (श्रीविद्या)बदरीनाथ
नन्दादेवी कुरूड़, नौटी, देवलगढ़
पर्णखण्डासना मैखण्डा
ललितानाला ग्राम
कालीकालीमठ
शाकम्भरीत्रियुगीनारायण के पास
गौरीगौरीकुण्ड 
सन्मार्गदायिनीकेदारनाथ 
बगलामुखीविनायक खाल
कामेश्वरीकामेश्वर पर्वत
कूर्मासनामैठाणा
इन्द्रासनाकण्डाली ग्राम
छिन्नमस्ताभणंना ग्राम
पवनेश्वरीयोनि पर्वत
अन्नपूर्णाउत्तरकाशी 
भुवनेश्वरीचन्द्रकूट पर्वत
रमणादेवप्रयाग 
विकृताख्यामुन्नाखाल (चमराड़‍ा)
रण मण्डनापावकी देवी
सुन्दरी देवीब्रह्मपुरी
कंसमर्दनश्रीनगर 
चामुण्डाश्रीनगर 
राजेश्वरीरणिहाट
कालीकालीमठ, कालीशिला
धारी देवीकालियासौड़
हरियाली देवीहरियाली डाँडा
ज्वाल्पा देवीज्वालपाधाम
सुरकण्डा देवी सुरकण्डा
चन्द्रबदनीचन्द्रबदनी पर्वत
उमा देवीकर्णप्रयाग 
दक्षिण कालीदशमद्वार
चण्डिका देवीसिमली
राजराजेश्वरीकण्डारा
महिषमर्दनीदेवलगढ़
गुह्येश्वरीपारखाल
नन्द भद्रेश्वरीभवान ग्राम
दीप्त ज्वालेश्वरीनबाला का तट
सुरेश्वरीनीलकंठ का तट
महत्कुमारिकानरेन्द्रनगर के पीछे
अनंगाऋषिकेश 
मुण्डमालेश्वरीबीरभद्राश्रम
मनसादेवीहरिद्वार 
माया देवीमायापुर, हरिद्वार 
काली मंदिरसिल्ला (बेंजी)
रति प्रियाहरिद्वार 
चण्डी देवीहरिद्वार 
श्रद्धा कनखल
गौरजादेवलगढ़
नन्दा भगवतीलाता
पार्वती (दुर्गा)देवस्थल
अनसूयामंडल
राकेश्वरीरांसी – गोंडार

 




उत्तराखंड में स्तिथ सभी प्रमुख मंदिर (All major temples in Uttarakhand)से जुड़ी यह पोस्ट अगर आप को अच्छी लगी हो तो इसे शेयर करें साथ ही हमारे इंस्टाग्रामफेसबुक पेज व  यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें।

About the author

Deepak Bisht

नमस्कार दोस्तों | मेरा नाम दीपक बिष्ट है। मैं पेशे से एक journalist, script writer, published author और इस वेबसाइट का owner एवं founder हूँ। मेरी किताब "Kedar " amazon पर उपलब्ध है। आप उसे पढ़ सकते हैं। WeGarhwali के इस वेबसाइट के माध्यम से हमारी कोशिश है कि हम आपको उत्तराखंड से जुडी हर छोटी बड़ी जानकारी से रूबरू कराएं। हमारी इस कोशिश में आप भी भागीदार बनिए और हमारी पोस्टों को अधिक से अधिक लोगों के साथ शेयर कीजिये। इसके अलावा यदि आप भी उत्तराखंड से जुडी कोई जानकारी युक्त लेख लिखकर हमारे माध्यम से साझा करना चाहते हैं तो आप हमारी ईमेल आईडी wegarhwal@gmail.com पर भेज सकते हैं। हमें बेहद खुशी होगी। मेरे बारे में ज्यादा जानने के लिए आप मेरे सोशल मीडिया अकाउंट से जुड़ सकते हैं। :) बोली से गढ़वाली मगर दिल से पहाड़ी। जय भारत, जय उत्तराखंड।

Add Comment

Click here to post a comment